Beat Plastic Pollution

If you can’t reuse it, refuse it

विश्व पर्यावरण दिवस 2018 का विषय, “प्लास्टिक प्रदूषण को हराएं”, वर्तमान समय की एक बड़ी पर्यावरणीय चुनौती का मुकाबला करने का आह्वान है। विश्व पर्यावरण दिवस 2018 का विषय हम सभी को इस बात पर सोच-विचार करने के लिए आमंत्रित करता है कि हम अपने दैनिक जीवन में किस तरह बदलाव करें कि हमारे प्राकृतिक स्थानों, वन्य जीवन और हमारे निजी स्वास्थ्य पर प्लास्टिक प्रदूषण का भारी बोझ कम हो।

भले ही प्लास्टिक के कई अहम उपयोग हैं, लेकिन हम एक बार उपयोग में आने वाले अथवा उपयोग के बाद फेंक दिए जाने वाले प्लास्टिक पर कुछ ज्यादा ही निर्भर होने लगे हैं – जिसके चलते पर्यावरण को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ रहे हैं। दुनिया भर में 10 लाख प्लास्टिक की बोतलें प्रति मिनट खरीदी जाती हैं। प्रत्येक वर्ष पूरी दुनिया में 500 अरब प्लास्टिक बैगों का उपयोग किया जाता है। कुल मिलाकर, हमारे द्वारा प्रयोग किए जाने वाले प्लास्टिक में से 50% प्लास्टिक का सिर्फ एक बार उपयोग होता है।

हमारे द्वारा उपयोग की जाने वाली लगभग एक तिहाई प्लास्टिक पैकेजिंग एकत्रित नहीं हो पाती है, जिसका मतलब है कि यह प्लास्टिक हमारी गलियों को जाम करता है और हमारे प्राकृतिक पर्यावरण को प्रदूषित करता है। हर वर्ष, लगभग 1.3 करोड़ टन प्लास्टिक को समुद्र में बहाया जाता है, जहां पर यह प्रवाल भित्तियों को ढक लेता है और कमजोर समुद्री जंतुओं के लिए खतरा उत्पन्न करता है। समुद्र में पहुंचने वाला प्लास्टिक एक वर्ष में चार बार पृथ्वी की परिक्रमा कर सकता है, और पूरी तरह नष्ट होने से पहले यह 1,000 वर्षों तक अस्तित्व में रहता है।

प्लास्टिक हमारी जलापूर्ति में भी पहुंचता है – और इस तरह से हमारे शरीर में भी। इससे क्या नुकसान होगा? वैज्ञानिक अभी यह निश्चित रूप से नहीं कह सकते हैं, लेकिन प्लास्टिक में कई ऐसे केमिकल होते हैं जो जहरीले होते हैं और हार्मोन को नुकसान पहुंचाते हैं। प्लास्टिक कई अन्य प्रदूषकों के लिए चुंबक का भी काम करता है, जैसे कि डाइऑक्सिन, धातु और कीटनाशक।

उसे हटाएं जो दोबारा काम न आए

इस वर्ष का विश्व पर्यावरण दिवस हम सभी के लिए एक अवसर लेकर आया है कि हम उन विभिन्न तरीकों को अपनाएं जिससे हम पूरी दुनिया में प्लास्टिक प्रदूषण का सामना कर सकते हैं। जरूरी नहीं है कि इसके लिए आप 5 जून का इंतजार करें।

if you can't reuse it, refuse itहम बहुत कुछ कर सकते हैं - जिस रेस्टोरेंट में अक्सर जाते हैं वहां पर प्लास्टिक के स्ट्रॉ का इस्तेमाल रोकने को कहें, काम पर अपना खुद का कॉफ़ी मग लेकर आएं, अपने क्षेत्रीय प्राधिकरण पर शहर के कूड़े के प्रबंधन में सुधार लाने का दबाव बनाएं। ये रहे कुछ अन्य विशेष उपाय:

  • शॉपिंग के लिए बाज़ार में खुद का बैग लेकर जाएं
  • खाने-पीने की वस्तुएं आपूर्ति करने वालों पर प्लास्टिक रहित पैकेजिंग का उपयोग करने का दबाव बनाएं
  • प्लास्टिक से बनी चम्मचों, कांटों आदि का इस्तेमाल करने से मना करें
  • अगली बार समुद्र तट पर टहलते हुए अगर आपको प्लास्टिक दिखे तो उसे उठा लें

इस समस्या का सामना करने के लिए हम और क्या कर सकते हैं? सोशल मीडिया पर #BeatPlasticPollution हैशटैग की मदद से अपने विचार लोगों से साझा करें।

इस वर्ष के अभियान के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए आने वाले दिनों में फिर से इस वेबसाइट पर आएं, और विश्व पर्यावरण दिवस 2018 की तैयारी से जुड़ी सभी नई खबरों को जानने के लिए साइन अप करना न भूलें।