Wednesday, April 25, 2018 प्रारंभ से प्रतिबंध तक: प्लास्टिक शॉपिंग बैग का इतिहास

70 के दशक में दुर्लभ व नवीन रहे प्लास्टिक शॉपिंग बैग अब हर जगह मौजूद विश्वव्यापी उत्पाद बन चुके हैं, जिनके उत्पादन की दर प्रतिवर्ष एक ट्रिलियन है। ये महासागरों की प्रकाश शून्य गहराइयों से लेकर माउंट एवरेस्ट के शिखर और ध्रुवीय बर्फीली चोटियों पर नज़र आ रहे हैं – और पर्यावरण के लिए कुछ बड़ी चुनौतियां उत्पन्न कर रहे हैं।

लेख

70 के दशक में दुर्लभ व नवीन रहे प्लास्टिक शॉपिंग बैग अब हर जगह मौजूद विश्वव्यापी उत्पाद बन चुके हैं, जिनके उत्पादन की दर प्रतिवर्ष एक ट्रिलियन है। ये महासागरों की प्रकाश शून्य गहराइयों से लेकर माउंट एवरेस्ट के शिखर और ध्रुवीय बर्फीली चोटियों पर नज़र आ रहे हैं – और पर्यावरण के लिए कुछ बड़ी चुनौतियां उत्पन्न कर रहे हैं।

यह कैसे हुआ?

1933 – सर्वाधिक इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक, पॉलीएथिलीन का निर्माण दुर्घटनावश नॉर्थविच, इंग्लैंड के एक केमिकल प्लांट में हुआ। पॉलीएथिलीन पहले भी कम मात्रा में बनाया जाता था, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ था कि इसे औद्योगिक दृष्टिकोण से व्यावहारिक तरीके से बनाया गया था। इसे शुरुआत में ब्रिटिश सेना ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान छुप कर इस्तेमाल किया।

image
फ़ोटो Wikipedia द्वारा

1965 – एक पीस वाले पॉलीएथिलीन शॉपिंग बैग का पेटेंट स्वीडिश कंपनी Celloplast द्वारा किया गया है। इंजीनियर स्टेन गुस्टाफ थूलिन द्वारा डिज़ाइन किया गया प्लास्टिक बैग ने तेज़ी से यूरोप में कपड़े और प्लास्टिक की जगह लेना शुरू कर दी।

Bag of the future
फ़ोटो Flickr द्वारा

1979 – यूरोप में 80% बैग बाजार को नियंत्रित करने वाला प्लास्टिक बैग विदेश पहुंचता है और संयुक्त राज्य अमेरिका में व्यापक स्तर पर उतारा जाता है। प्लास्टिक कंपनियां अपने उत्पाद का प्रचार आक्रामक तरीके से करना शुरू करती हैं जिसमें वे इसे पेपर से बने तथा दोबारा उपयोग में आने वाले बैग की तुलना में श्रेष्ठ बताती हैं।

image
फ़ोटो Creative Commons द्वारा

1982 – Safeway और Kroger संयुक्त राज्य अमेरिका, की दो सबसे बड़ी सुपरमार्केट चेन प्लास्टिक बैग को अपना लेती हैं। अन्य कई स्टोर भी इसी तर्ज पर प्लास्टिक बैग को अपनाते हैं और दशक की समाप्ति होते-होते, प्लास्टिक बैग दुनिया भर में पेपर की जगह ले लेते हैं।

image
फ़ोटो visualhunt द्वारा

1997 – नाविक और शोधकर्ता चार्ल्स मूर ने ग्रेट पैसिफ़िक गार्बेज पैच की खोज की, जो दुनिया के महासागरों के कई चक्रों में से सबसे बड़ा है, जहां पर भारी मात्रा में प्लास्टिक का कचरा एकत्रित हो चुका है और समुद्री जीवन पर खतरा बनकर मंडरा रहा है। प्लास्टिक बैग समुद्री कछुओं की मौत के ज़िम्मेदार हैं, जो उन्हें जेलीफ़िश समझकर खा लेते हैं।

image
फ़ोटो Creative Commons द्वारा

2002 – बांग्लादेश पतले प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध लगाने वाला दुनिया का पहला देश बन जाता है, जब यह सामने आता है कि विनाशकारी बाढ़ के दौरान पानी की निकासी प्रणालियों को जाम करने में प्लास्टिक बैग की अहम भूमिका थी। अन्य देश भी ऐसा करने में जुट जाते हैं।

image
फ़ोटो Reuters द्वारा

2011 – दुनिया भर में एक मिलियन प्लास्टिक बैग की खपत प्रति मिनट होती है।

image
फ़ोटो Reuters द्वारा

2017 – प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध लगाकर केन्या उन दो दर्जन से भी अधिक देशों की फ़ेहरिस्त में शामिल हो जाता है जिन्होंने शुल्कों या प्रतिबंधों के ज़रिए प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल कम करने की दिशा में कदम उठाए हैं।

image
फ़ोटो visualhunt द्वारा

2018 – # करेंगे संग प्लास्टिक प्रदूषण से जंग को विश्व पर्यावरण दिवस के विषय के रूप में चुना गया है,जिसका आयोजन इस वर्ष भारत द्वारा किया जा रहा है। दुनिया भर में प्लास्टिक के कचरे से निपटने के लिए कंपनियों और सरकारों द्वारा नई शपथों की घोषणाएं जारी हैं।

#करेंगे संग प्लास्टिक प्रदूषण से जंग विश्व पर्यावरण दिवस 2018 का विषय है।

Recent Posts
Stories स्ट्रॉमुक्त सिएटल: कैसे एक प्रमुख तटीय शहर समुद्री कचरे से निपट रहा है

वॉशिंगटन राज्य के सबसे बड़े और संयुक्त राज्य अमेरिका के पैसिफ़िक तट पर बसे शहर सिएटल के ग्राहकों को जुलाई 2018 से, बायोडिग्रेडेबल पेपर से बने स्ट्रॉ मांगने होंगे या फिर इनके बिना ही अपनी ड्रिंक पीनी होगी।

Stories दुनिया की सबसे गहरी महासागरीय खाई में पहुंचा एक बार उपयोग में आने वाला प्लास्टिक

एक नए अध्ययन से पता चला है कि मानवीय गतिविधियों से महासागरों के सबसे गहरे हिस्से भी प्रभावित हो रहे हैं, जो मुख्य भूमि से 1,000 किलोमीटर से भी दूर हैं