Monday, April 30, 2018 #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) के लॉन्च के एक साल बाद, चलन बदल रहा है

प्लास्टिक के कप में कॉफी खरीदते समय क्या आप असहज महसूस करते हैं?

लेख

प्लास्टिक के कप में कॉफी खरीदते समय क्या आप असहज महसूस करते हैं? शायद आप पानी की बोतल खरीदते समय असहज महसूस करते होंगे?

हम यह आशा करते हैं, क्योंकि फरवरी 2017 में अपने लॉन्च के बाद से ही संयुक्त राष्ट्र के #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अभियान का मुख्य उद्देश्य ही इस बात की जागरूकता फैलाना रहा है कि प्लास्टिक कचरा हमारे महासागरों, हमारे वन्य जीवन और हमारे स्वयं के साथ क्या कर रहा है।

एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक के अत्यधिक उपयोग का सामना करने और हमारे टॉयलेटरीज़ और सौंदर्य प्रसाधन संबंधी उत्पादों से खतरनाक माइक्रोप्लास्टिक से छुटकारा पाने के लिए एक वैश्विक आंदोलन के सृजन के लिए स्वयं को पांच वर्ष का समय दिया है।

बदलाव की शुरुआत हो चुकी है। लॉन्च के लगभग एक वर्ष के भीतर ही, दुनिया की आधी से ज्यादा तटरेखा के लिए ज़िम्मेदार 43 सरकारें #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अभियान से जुड़ चुकी हैं और महासागरों का संरक्षण करने, पुनःचक्रण को प्रोत्साहित करने और एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक में कटौती करने की विशिष्ट प्रतिबद्धता प्रकट कर चुकी हैं।

दुनिया भर में, #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) से प्रेरित होकर लोगों ने प्लास्टिक के अपने उपयोग पर पुनर्विचार किया है और अब वे अपनी सरकारों तथा प्राइवेट सेक्टर पर प्रदूषण से निपटने के लिए सशक्त नीतियां लागू करने का दबाव बना रहे हैं।

लगभग 80,000 लोग अपने जीवन से एक बार उपयोग होने वाले प्लास्टिक और माइक्रोबीड को खत्म करने के लिए #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) की शपथ ले चुके हैं। बाली से लेकर पनामा तक, वे समुद्र तटों की सफाई कर रहे हैं, जो भी उन्हें मिल रहा है उसका ब्यौरा लिख रहे हैं, और अपना खुद का आचरण बदल रहे हैं, उदाहरण के लिए, वे कपड़े के बने बैग, स्टील के कप और कटलरी का उपयोग कर रहे हैं, प्लास्टिक के स्ट्रॉ से इनकार कर रहे हैं और अपने ऑफ़िस से प्लास्टिक के कप और एक बार उपयोग होने वाली बोतलों को हटाने की मांग कर रहे हैं।

समस्या के स्तर को देखते हुए वैश्विक स्तर पर जवाबी कार्यवाही किए जाने की ज़रूरत है। प्रत्येक वर्ष, लगभग 8 मिलियन टन प्लास्टिक हमारे महासागरों में पहुंचकर हमारी मछलियों, पक्षियों और अन्य समुद्री जन्तुओं को ज़हरीला बना रहा है। यह हर मिनट समुद्र में एक ट्रक कचरा डाले जाने के बराबर है। अप्रैल में, एक स्पर्म व्हेल, स्पेन की दक्षिणी तटरेखा पर मृत पाया गया और ऑटोप्सी (पोसेटमॉर्टम) में यह पता चला कि उसकी मौत पेट में पाए गए 29 किलो प्लास्टिक की वजह से हुई थी। दुर्भाग्यवश, यह इकलौती घटना नहीं है।

#CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) की पहली प्राथमिकता इस समस्या के विकराल स्तर की ओर ध्यान खींचने की थी और यह संदेश स्पष्ट तथा व्यापक स्तर पर पहुंच चुका है।

image
CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) कैंपेन को फरवरी 2017 में बाली, इंडोनेशिया में एक कार्यक्रम के दौरान लॉन्च किया गया था। (संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण/Flickr/फ्लिकर)

कई हज़ार लोगों ने अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट CleanSeas.org का रुख किया है, और वहीं हज़ारों लोग ट्विटर और इंस्टाग्राम पर #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) और #beatpollution हैशटैग का इस्तेमाल कर समुद्र तटों की सफाई की तस्वीरों को टैग कर रहे हैं और अपने दोस्तों और फ़ॉलोवर्स से समुद्री कचरे के खिलाफ़ जंग में शामिल होने की अपील कर रहे हैं।

दुनिया के चारों ओर होने वाली वॉल्वो ओशन रेस में प्रतिभागी टर्न द टाइड ऑन प्लास्टिक (प्लास्टिक लहर पर पलटवार) नौका की असाधारण टीम दुष्कर राह का सामना करते हुए संदेश भी दे रही है। रेस के 45 वर्षों के इतिहास में सबसे युवा और इकलौती महिला-पुरुषों की मिश्रित टीम द्वारा संचालित टर्न द टाइड ऑन प्लास्टिक नौका छह अन्य नौकाओं से दुनिया के पांच में से चार महासागरों में मुकाबला कर रही है।

और केन्या में, फ़्लिपफ़्लॉपी प्रोजेक्ट लामू द्वीप की सफाई में एकत्रित हुए प्लास्टिक कचरे से एक 60 फ़ुट लंबी पारंपरिक कश्ती तैयार कर अफ़्रीका के पूर्वी तट पर जागरूकता फैला रहा है।

जिस वैश्विक संरक्षण की हमें ज़रूरत है वह जारी है किंतु अब भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। अगले पांच वर्षों में, #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) का उद्देश्य एक सच्ची चक्रीय वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए अविरल (जिसे रोका न जा सके) गति सृजित करना है। इसका मतलब है जो कुछ हम इस्तेमाल करते हैं उसका मूल्यांकन करना और इस बारे में गहन सोच-विचार करना कि हम उत्पादों का उपयोग और पुनःउपयोग किस तरह करते हैं।

“हमारा उद्देश्य प्लास्टिक के साथ विश्व के संबंध को पुनः परिभाषित करना है क्योंकि हमारे समुद्रों को बचाने का यह एकमात्र तरीका है। अपने खपत के तरीके में परिवर्तन करके ही हम महासागरों को इस तरह से सुरक्षित कर सकते हैं जो मानव जीवन को पोषित कर सकें,” संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण के कार्यकारी निदेशक, एरिक सोलहाइम ने कहा। “हमें एक क्रांति की आवश्यकता है।”

मार्च के अंत तक ब्राज़ील से लेकर बेल्जियम तक और मालदीव से लेकर आइसलैंड तक कुल 42 देश #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अभियान से जुड़ चुके हैं, और कई देश समुद्री संरक्षित क्षेत्रों के सृजन से लेकर पुनःचक्रण और कचरा प्रबंधन पर राष्ट्रीय योजना जैसे सभी मुद्दों पर दृढ़ संकल्प ले रहे हैं।

नीचे कुछ संकल्प दिए गए हैं जो पहले ही लिए जा चुके हैं:

बेल्जियम, ब्राज़ील, डॉमिनिकन रिपब्लिक (डॉमिनिकन गणराज्य), पनामा और फिलीपींस समुद्री कचरे से निपटने के लिए या तो राष्ट्रीय योजनाएं और कानून तैयार कर रहे हैं या उन्हें अपना रहे हैं।

विश्व में सबसे लंबी तटरेखा वाला कनाडा, समुदाय-आधारित कार्यक्रमों की फ़ंडिंग कर रहा है, जैसे समुद्र तट की सफाई, और माइक्रोप्लास्टिक के प्रभावों पर लगातार निर्णायक शोध। यह माइक्रोबीड युक्त प्रसाधन उत्पादों के उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रावधान भी बना रहा है।

इंडोनेशिया ने 2030 तक प्लास्टिक कचरे को 70 प्रतिशत तक कम करने का संकल्प लिया है।

केन्या, जॉर्डन, मेडागास्कर, चिली और फ्रांस एक बार उपयोग होने वाले या नॉन-बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध लगा चुके हैं या प्रतिबंध लगाने का संकल्प ले चुके हैं।

इज़रायल ने अपने 70 प्रतिशत समुद्र तटों को इस वर्ष के 70 प्रतिशत समय में साफ करने का संकल्प लिया है और कुछ विशिष्ट प्रकार के प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध लगा रहा है।

डेनमार्क, फ़िनलैंड, आइसलैंड और स्वीडन ने प्लास्टिक कचरे की रोकथाम कर, पुनःचक्रण को प्रोत्साहित कर तथा एक चक्रीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देकर प्लास्टिक के प्रति एक सतत दृष्टिकोण बनाने के लिए एक “नोर्डिक कार्यक्रम” लागू करने का संकल्प लिया है।

न्यूज़ीलैंड ने जून से प्लास्टिक माइक्रोबीड युक्त उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने का संकल्प लिया है और एक बार उपयोग में ने वाले प्लास्टिक बैग से छुटकारा पाने के लिए विकल्प विकसित कर रहा है।

#CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अभियान इन वादों की निगरानी करेगा और सुनिश्चित करेगा कि इस मुद्दे पर अन्य देश भी अपनी प्रतिबद्धता दर्शाएं। लेकिन सरकारें इस युद्ध को अकेले नहीं लड़ सकती हैं।

व्यवसाय प्लास्टिक के प्रति जनमानस में आई जागरूकता को बारीकी से समझ रहे हैं और वे भी प्रतिक्रिया दे रहे हैं: यूरोपीय खुदरा विक्रेताओं ने प्लास्टिक मुक्त गलियारों का संकल्प लिया है और वहीं दूसरी तरफ कुछ रेस्टोरेंट ने अपने यहां से प्लास्टिक स्ट्रॉ को हटाने का वचन लिया है।

प्राइवेट सेक्टर सफलता की कुंजी है। यहां पर अन्वेषक, सर्वोत्कृष्ट डिज़ाइनर और वैचारिक लीडर पाए जाते हैं जो उपभोक्ता आदतों तथा उत्पाद के डिज़ाइन में स्थाई तथा स्पष्ट बदलाव ला सकते हैं।.

image
हमारे प्लास्टिक उत्पादन तथा उपयोग के तरीके पर पुनर्विचार समुद्री कचरे से उपजे संकट से निपटने की कुंजी है। (पिक्साबे)

DELL ने एडवोकेसी फ़ाउंडेशन लोनली व्हेल तथा अन्य के साथ मिलकर एक पहली व्यावसायिक स्तर की, महासागरों में पहुंचने वाले प्लास्टिक आपूर्ति श्रृंखला को विकसित करने का बीड़ा उठाया है। Dell स्वयं भी अपने लैपटॉप की पैकेजिंग बनाने के लिए समुद्र तटों, जलमार्गों और तटीय क्षेत्रों से एकत्र किए गए प्लास्टिक का उपयोग कर रहा है।

अगले वर्ष तक, #CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अपनी प्रमुख व्यावसायिक तथा संस्थागत साझेदारी को DELL, वॉल्वो ओशन रेस, इलेवेन्थ आवर रेसिंग (11th Hour Racing), मस्टो (Musto), लोनली व्हेल, विश्व चिड़ियाघर एवं एक्वेरियम एसोशिएशन तथा फ़ुकेत होटल्स एसोशिएशन के साथ सुदृढ़ करेगा। हम अधिक कंपनियों से संपर्क साधकर उनकी विशेषज्ञता का उपयोग एक सतत, चक्रीय वैश्विक अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए करेंगे।

“आर्थिक विकास को स्थाई रूप से पर्यावरण गिरावट से अलग करने का समय निकल रहा है और हम उद्योग जगत की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं के साथ काम करके यह लक्ष्य प्राप्त करना चाहते हैं,” सोलहाइम ने कहा। “अगले कुछ वर्ष यह तय करेंगे कि नई तकनीक और सामग्री में वैश्विक लीडर कौन हैं। यह उनके लिए एक सुनहरा अवसर है जो सपना देखने का हौसला रखते हैं।”

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण के CleanSeas (स्वच्छ समुद्र) अभियान के बारे में अधिक जानें।

नीचे उन देशों के नाम दिए हैं जो अप्रैल 2018 तक कैंपेन से जुड़ चुके हैं: बहरीन, बाररबाडोस, बेल्जियम, ब्राज़ील, कनाडा, चिली, कोलंबिया, कोस्टा रिका, डेनमार्क, डॉमिनिकन रिपब्लिक (डॉमिनिकन गणराज्य), इक्वाडोर, फ़िनलैंड, फ्रांस, ग्रेनाडा, आइसलैंड, इंडोनेशिया, इज़रायल, इटली, जॉर्डन, केन्या, किरिबाती, मेडागास्कर, मालदीव, माल्टा, मोंटेनेग्रो, नीदरलैंड, न्यूज़ीलैंड, नॉर्वे,ओमान, पनामा, पेरू, फ़िलीपींस , पोलैंड, सेंट लूसिया, सेशेल्स, सिएरा लियोन, दक्षिण अफ्रीका, श्री लंका, सूडान, स्वीडन, संयुक्त राज्य अमेरिका, उरुग्वे।

Recent Posts